Stress Management - Corporate Training

STRESS MANAGEMENT DURING EXAMS

Stress Management During Competitive Exams

(Bank PO, SSC, Competitive Exams)

तनाव आधुनिक समाज की एक बड़ी समस्या है और शोधो से पता चलता है कि करीब 75% रोगों का कारण यही तनाव होता है | यहाँ तक कि ह्र्दय एवं कर्क रोग (Heart Disease and Cancer) जैसे जानलेवा रोगों से भी तनाव कि भूमिका होती है |
यूँ तो तनाव के कई कारण होते है लेकिन विद्यार्थियों के लिए तनाव का मुख्य कारण परीक्षा (Exam) होता है | तनाव कि वजह से उनमे कई सरे मनोवैज्ञानिक प्रतिक्रियाएं जैसे चिंता, क्रोध, आक्रमता आदि एवं मनोदैहिक प्रतिक्रियाएं जैसे :-

नींद न आना, सिरदर्द, पेटदर्द, आदि होते है जिसकी वजह से उन्हें कई सारे समस्याओं का सामना करना पड़ता है | इसलिए ज़रूरी है कि विद्यार्थी तनाव प्रबंधन (Stress Management) करना सीखें | यहाँ पर कुछ उपाय दिए जा रहे है जिसे अपनाकर वो अपना तनाव कम कर सकते है :-

परीक्षा (Examination) के दौरान क्या करे :-
  • सभी विषयों के नोट्स तैयार कर ले और प्रश्नों के पैटर्न एवं मार्किंग स्कीम की पूर्ण जानकारी रखें
  • समय प्रबंधन (Time Management) करना सीखें एवं यथासंभव समय सारणी (Time Table) बनाकर कार्य करे
  • मानव मस्तिष्क (Human Brain) लगातार 45 मिनटों से अधिक प्रभावशीलता के साथ कार्य नहीं कर सकता है इसलिए पढाई के बीच में आराम ज़रूर करें
  • खाने का ख़ास ध्यान रखें | स्वास्थ्यकर भोजन खाएं जिसमे फल, सब्जियाँ, प्रोटीन एवं रेशेदार अनाज आदि शामिल हों I दिन में एक बार घर का बना गर्म भोजन खाएं
कुछ ऐसा करे जिसमे तनाव कम हो जैसे :-
  • गहरी साँस लेना (Deep Breathing), योगा, मैडिटेशन, पेंटिंग, संगीत सुने, किताबें  एवं उपन्यास पढ़ें या कोई ऐसा कार्य जिसमे आपको आनंद आता हो
  • एक हफ्ते में कम से कम 3 बार 30 मिनटों तक व्यायाम करे इसमें न केवल आप स्वस्थ्य रहेंगे बल्क़ि तनाव भी कम होगा साथ ही यह आपको बेहतर नींद लेने में मदद करेगा
  • सभी व्यक्ति कि एक सिमित क्षमता होती है इसलिए ना कहना सीखें एवं एक समय पर एक कार्य करें
  • सकारात्मक सोंच रखें, जिन चीजों को आप बदल नहीं सकते उन्हें स्वीकार करना सीखें | खूद से प्यार करे एवं अपनी उपलाब्धियों पर गर्व करें
  • ऐसी जगह में पढाई करे जहाँ लाउड म्यूजिक, शोर, तेज़ रौशनी न हो, इसमें आप पुरे ध्यान एवं एकाग्रता के साथ पढाई कर पायेंगे
  • एक दिन में 6-8 ग्लास पानी पियें ताकि आपके शरीर में पानी कि कमी न हो साथ ही हर्बल चाय का उपयोग आपको स्वस्थ्य के लये अच्छा होगा
  • प्रत्येक रात 6 घंटे कि नींद लें इससे आपके शरीर को आराम मिलेगा साथ ही आप पुरे दिन उर्जावान महसूस करेंगें
  • अपनी परेशानियों को अपने दोस्तों, माता-पिता, शिक्षाको एवं अभिभावको (कोई ऐसा व्यक्ति जिसके साथ आप स्वच्छंद महसूस करते हो), उससे शेयर करें, ताकि वे आपकी मदद कर सकें
  • अगर ज़रूरत पड़े तो आप किसी मनोवैज्ञानिक या फिर किसी काउंसलर कि मदद लें सकते हैं | वे तनाव को कम करने में आपकी मदद करेंगे
परीक्षा (Examination) के दौरान क्या ना करे :-
  • देर रात में जागकर पढाई न करे इससे आपके स्वस्थ्य पर असर पड़ेगा
  • किसी भी विषय को रटकर याद न करें बल्कि उसके अर्थ को समझें इससे सम्बंधित विषय लम्बे समय तक याद रहेगा
  • कैफीन (चाय, कॉफ़ी), कोल्डड्रिंक, जंक फ़ूड, स्ट्रीट फ़ूड आदि का सेवन ना करें या सिमित मात्रा में करें
  • एक समय पर कई सारे कार्यों को करने से बचें
  • अपने किताबें, नोट्स आदि को बेतरतीब तरीके से इधर उधर न रखें
  • दूसरों द्वारा कि जाने वाली आलोचनाओं पर ज्यादा ध्यान न दे
  • नकारात्मक सोच (आत्महत्या, घर छोड़ देना) आदि को अपने दिमाग में न आने दें
  • बहुत ज्यादा खाने, पर्याप्त न खाने, तम्बाकू, ड्रग, शराब, पीने या नशीली दवाओं का प्रयोग करने जैसे अस्वास्थ्यकर तरीकों के ज़रिये तनाव से न निपटें
  • तनाव में कुछ शारीरिक प्रतिक्रियाएं जैसे- घबराहट, साँस लेना में परेशानी, सिरदर्द, कब्ज़ या दस्त, भूख कम होना, नींद न आना, पसीना आना, दिल कि धडकनों का तेज़ से जाना, गुस्सा महसूस करना आदि होती है इनसे ना घबरायें एवं ज़रूरत पड़ने पर डॉक्टर की मदद लें

– Ms. Priyanka Raj
(BA, MA, PG in Psychology). The author is an experienced psychologist, currently pursuing her Ph.D. She works as a Special Need Educator.

Please follow and like us:

Leave a Comment

Your email address will not be published.